डिप्रेशन कोई बीमारी नहीं बल्कि एक जीवन शैली है जिसे बदला जा सकता है |

Share
  • Document
  • 407 KB
₹ 99
Description

इस पुस्तक को पढ़ने से पहले मैं आपसे जानना चाहूंगा |
क्या आप मोबाइल के आदी हैं , जिसके बिना आप रह नहीं सकते ?
क्या आप लोगों के बीच उठने बैठने से घबराते हैं ?
क्या आप रात को बहुत कम या बहुत ज्यादा सोते हैं ?
क्या आप बहुत अकेला महसूस करते हैं ?
क्या आप आपके दोस्तों और परिवार वालों से बात करना नहीं चाहते ?
क्या आपका मन नहीं लगता ?
क्या आप किसी चीज को लेकर guilty महसूस करते हैं ?
क्या आप बहुत नकारात्मक सोचते हैं ?
क्या आपको आत्महत्या के विचार आते हैं ?
क्या आप बहुत ज्यादा उदास है ?

अगर आपके साथ भी ऐसा ही हो रहा है, जैसा मेरे साथ सन 2016 में हो रहा था |

तो आप भी उसी तरह के भ्रम में जी रहे हैं, जिस तरह के भ्रम में, मैं उस समय जी रहा था , जब मैं डिप्रेशन से ग्रसित था |

वास्तव में डिप्रेशन कोई बीमारी नहीं है, यह तो एक मन की स्थिति है , जो कि एक जीवन शैली में बदल गई है |

आप अच्छी तरह जानते हो, आप डिप्रेशन के साथ पैदा नहीं हुए थे,या वे लोग जो बहुत ज्यादा सफल हैं, वह भी किसी सफलता के साथ पैदा नहीं हुए हैं |

वास्तव में आप एक बहुत अच्छे इंसान हो, लेकिन आपकी मानसिकता डिप्रेस्ड लोगों के जैसी है |

आपको डिप्रेशन से बाहर आने के लिए सिर्फ आपकी मानसिकता को बदलना है, और यह ebook आपकी मानसिकता को बदलने के लिए बहुत उपयोगी है |

इस ebook को पढ़कर आप 1 घंटे में आपकी मानसिकता में बदलाव महसूस कर सकते हैं |

इस ebook का एकमात्र उद्देश्य आपकी जीवनशैली को बदलकर आपको डिप्रेशन से बाहर निकालना है |