सत्संग योग चारों भाग। ई बुक (PDF)

Share
  • Document
  • 1 MB
Min ₹ 100
Description

भारतीय साहित्य में वेद, उपनिषद, उत्तर गीता, भागवत गीता, आदि सदग्रंथों का बड़ा महत्व है। इन्हीं सदग्रंथों में से ध्यान योग से संबंधित कुछ श्लोकों को संग्रहित करके सद्गुरु महर्षि मेंहीं परमहंस जी महाराज ने 'सत्संग योग' नामक पुस्तक के पहले भाग में रखा है। इसी तरह दूसरे भाग में 50 से भी ज्यादा संतों का वाणियों का संग्रह किया गया है। तीसरे भाग में साधु-साधकों के गद्य (लेखों) को एकत्रित करके चतुर्थ भाग में स्वानुभव को व्यक्त किए हैं। पुस्तकें भारतीय धर्म ग्रंथों से प्रमाणिक है।
यह एक ई बुक साहित्य है, जो केवल डिवाइस में डाउनलोड करके पढ़ा जा सकता है। स्मार्ट फोन में यह चलता है और जिस में पीडीएफ फाइल रीडर है उन सभी डिवाइसों में इसे डाउनलोड कर सकते हैं।