product-preview-thumbnail-0product-preview-thumbnail-1product-preview-thumbnail-2product-preview-thumbnail-3product-preview-thumbnail-4

गुरु महिमा pdf -महर्षि संतसेवी जी महाराज (गुरु से संबंधित हर प्वाइंट पर बिस्तृत चर्चा।)

Share
  • Document
  • 59 MB
Min ₹ 50
Description

सन्त सद्गुरु अनन्त नेत्र का उन्मेष कराकर अनन्तस्वरूपी सर्वेश्वर का साक्षात्कार करनेवाले हैं , उन अनन्त महिमाधारी और अनन्त उपकारी गुरु का यशगान कर अवसान कौन कर सकता है ? फिर भी , जैसे दिनकर - भक्त दिवाकर को दीप दिखाकर तुष्ट होते हैं अथवा जिस तरह तीव्र गामी गरुड़ को गगन में गमन करते देख मकान के अन्दर मच्छड़ भी अपना पर फैलाकर कुछ गुनगुनाता है , उसी तरह यह अकिंचन भी कुछ गुरु - गुण गुजन कर मन को संतुष्ट करना चाहता है । इसी दृष्टिकोण को अपनाकर प्रस्तुत पुस्तक में गुरु की आव श्यकता , महत्ता , गुरु - शिष्य की योग्यता प्रभृति विषयों का प्रति पादन किया गया है । अब इसमें जो कुछ भी है , वह आपके अक्ष के समक्ष प्रत्यक्ष है । आशा है , अध्येतागण इससे लाभान्वित होंगे ।
पृष्ठ 160, pdf या ई बुक। सहयोग राशि 50.00रु. मात्र।