सर्वधर्म समन्वय संतमत .pdf -महर्षि संतसेवी जी महाराज Harmony_Of_All_Religions_Hindi_Sarvadharma_Samanvy.pdf

Share
  • Document
  • 556 KB
Min ₹ 50
Description

इस संकटापन्न परिस्थिति में सभी धर्मों के समतामूलक भावों अर्थात् आध्यात्मिक पक्ष को जनसामान्य के बीच लाना आवश्यक प्रतीत होता है । इसी उपाय के द्वारा धर्मों के बीच चौड़ी होती खाई को पाटा जा सकता है और धर्म के शांति - मुक्ति प्रदायक स्वरूप को पुनर्प्रतिष्ठित किया जा सकता है । प्रस्तुत पुस्तक ‘ सर्वधर्म समन्वय' इसी दिशा में किया गया एक लघु प्रयास है । सर्वप्रथम हम इसपर विचार करें कि धर्म क्या है ? धियते लोकोऽनेन धरति लोकं वा धृ + मन् कर्त्तव्य , जाति - सम्प्रदाय आदि के प्रचलित आचार का पालन ।
पृष्ठ 118, मूल्य ₹50/- पीडीएफ फाइल हिंदी साहित्य।